रामबाग पैलेस – राजस्थान | Rajbagh Palace

रामबाग पैलेस जिसको जयपुर का गहना भी कहा जाता है, इसे राजघराना कहना बिल्कुल भी गलत नहीं होगा। जयपुर से लगभग 8 किलोमीटर की दूरी पर स्थित यह पैलेस राजा सवाई मान सिंह का महल हुआ करता था। पूरा शाही परिवार यहीं रहता था।

पर्यटक इसे देखकर राजपूतों के गौरव, वैभव और राजत्व का अनुमान लगा सकते हैं। वैसे तो पूरा राजस्थान ही राजपूतों के महलों और भवनों से भरा हुआ है परंतु रामबाग पैलेस की तो बात ही कुछ अलग है।

इस महल की वास्तुकला देखकर यह कोई नहीं कह सकता कि इस महल का निर्माण वर्षों पहले हुआ था। 

आखिर कैसे बना यह महल से होटल

इसके निर्माण की शुरुआत 1835 में हुई थी। रानी ने अपनी पसंदीदा नौकरानी केसर बरदान के लिए एक “गार्डन हाउस” का निर्माण करवाया था।

1887 में महाराजा ठाकुर सवाई माधो सिंह ने इसे एक मामूली शाही शिकार लॉज में बदल दिया क्योंकि उस समय यह घने जंगलों के बीच स्थित था और शिकार के लिए यह जगह उपयुक्त थी।

1925 से इसे राजा के निवास के लिए इस्तेमाल किया जाने लगा। 1933 में सवाई मान सिंह द्वितीय इधर निवास किया करते थे।

1938 में सवाई मान सिंह द्वितीय ने इसे अपनी रानी गायत्री देवी के लिए “महारानी स्वीट” में परिवर्तित कर दिया। राजा सवाई मानसिंह कि हमेशा से यह कामना थी कि वह इस पैलेस को एक आलीशान होटल में परिवर्तित करें और पूरे विश्व में इसका नाम हो। उनका यह सपना स्वतंत्रता के बाद पूर्ण भी हो आया।

स्वतंत्रता के बाद रामबाग पैलेस को “गवर्नर हाउस” में बदल दिया गया और राजा सवाई मानसिंह राजपूताना संघ के गवर्नर बन गए। 1957 में इसे ताज होटल ग्रुप ने एक फाइव स्टार होटल में परिवर्तित कर दिया।

इसकी वास्तुकला है विश्व प्रसिद्ध

रामबाग पैलेस लगभग 47 एकड़ तक फैला हुआ है। राजा सवाई मानसिंह ने इस पैलेस के निर्माण में मुगल शैली से प्रेरणा लेते हुए राजपूतों की भव्यता को दर्शाने का प्रयास किया है।

इस पैलेस के वास्तुकार सर “सैमुअल स्विंटन जैकोब” ने इसको बनाने में इंडो सारसेनिक वास्तुकला का उपयोग किया है। यहाँ की हर दीवार के हर पत्थर से एक कहानी जुड़ी हुई है। जयपुर के हर महल से राजपूतों की रॉयल्टी का अनुभव लगाया जा सकता है। यहाँ आ कर एक आम आदमी को भी किसी राजा जैसा आभास होता है।

यहाँ की संगमरमर की जाली, मुगल उद्यान, राजपूत मेहराब गुंबद, छत्रियाँ और उपनिवेशित मेहराब इस महल को बाकी सारे राजपूती महलों से अलग बनाती है।

हर प्रकार की सुविधा है उपलब्ध

रामबाग पैलेस की गिनती विश्व के सबसे महंगे और आलीशान होटलों में की जाती है। यहां आने वाले मेहमानों को हर प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध करा दी जाती है।

राजपूत शासक हमेशा से ही खेल (विशेषकर पोलो) में रुचि रखते थे। इसलिए यहां स्पा, पोलो, गोल्फ, योग मंडप, फिटनेस हब, जकूजी आदि जैसी सब सुविधाएं उपलब्ध है।

रामबाग पैलेस के स्विमिंग पूल में बैठकर पर्यटक अरावली की पहाड़ियों और नाहरगढ़ किले का मनमोहक नज़ारा देख सकते हैं। रामबाग पैलेस आपको राजा ना होते हुए भी राजाओं जैसा महसूस करवा देगा। रामबाग पैलेस के हरे-भरे उद्यानों में अक्सर मोर भी देखने को मिल जाया करते हैं।

हर कोई ले सकता है यहां की सुंदरता का आनंद

हालांकि रामबाग पैलेस में रहना बिल्कुल ही अनूठा अनुभव है परंतु यहां के होटल में रहना हर किसी के लिए संभव नहीं लेकिन पैलेस में भ्रमण की भी सुविधाएं उपलब्ध हैं। 

पर्यटक सिर्फ पचास रुपए की टिकट लेकर इस पैलेस की सुंदरता को देखने का अनुभव पा सकते हैं। भ्रमण का समय सुबह 10:00 बजे से लेकर शाम के 6:00 बजे तक होता है।

यहां के रेस्टोरेंट में पर्यटक शाही खाने का भी लुफ्त उठा सकते हैं। शाही मेहमानों के लिए “स्वर्ण महल” और बाकी मेहमानों के लिए “बरामदा कैफे” एवं “राजपूत रूम” में खाने की व्यवस्था की गई है। यहां हर प्रकार के व्यंजन उपलब्ध होते हैं।

रामबाग पैलेस के बारे में कुछ खास बातें

  • 2017 के राष्ट्रीय पर्यटन पुरस्कार में इसे “बेस्ट फाइव स्टार डीलक्स होटल” का खिताब मिला था ।
  • यहां लॉर्ड माउंटबेटन, प्रिंस चार्ल्स, जैकलीन कैनेडी, आदि जैसे बहुत से शाही मेहमान आ चुके हैं ।
  • रामबाग पैलेस में कुल 78 सुइट और कमरे है।
  • हमेशा राजशाही का प्रतीक रहने के लिए इसमें लगातार उन्नयन कराए जाते हैं ताकि यह हमेशा ही विश्व का सबसे महंगा और विलासी होटल रहे ।
  • शाही मेहमानों के लिए रेस्टोरेंट में एक छोटी सी ट्रेन भोजन परोसती है ।

यहां पहुंचना है बेहद आसान

जयपुर जैसे महानगर में पहुंचना किसी भी पर्यटक के लिए बहुत आसान कार्य है। जयपुर का हवाई अड्डा रामबाग पैलेस से सिर्फ 11 किलोमीटर की दूरी पर है और रेलवे स्टेशन सिर्फ 7 किलोमीटर की दूरी पर है। “सिविल लाइन मेट्रो स्टेशन” भी सिर्फ 3 किलोमीटर की दूरी पर ही है।

अगर आप जयपुर पर्यटन करने जा रहे हैं तो रामबाग पैलेस की सुंदरता का अनुभव लेना ना भूलें।

Other Related Articles:
जयपुर में घूमने की जगह | Places to visit in Jaipur
राजस्थान में घूमने की जगह | Places to Visit in Rajasthan

Leave a Comment