Indore me Ghumne ki Jagah | इंदौर मे घूमने के पर्यटन स्थल

इंदौर शहर को मध्य प्रदेश राज्य का दिल कहा जाता है। इंदौर शहर अपने प्राचीन मंदिरो और झरनो के कारण पहचाना जाता है। इंदौर शहर प्राचीन और आधुनिक युग का मेल वाला शहर है।

इंदौर शहर के पर्यटन स्थल | Places to visit in Indore

Places to visit in Indore, इन मे से कुछ प्रस्तुत है:

  1. गोमटगिरी : यह एक जैन मंदिर है। यदि आपका मन शहर के शोरगुल से परेशान हो तो यह शांत और सुंदर जैन मंदिर मन को शांत करने और सुकुन की सांस लेने के लिए सही जगह है।यह मंदिर चारो तरफ से हरे भरे पेड़ो से घिरी हुई है। इस मंदिर के अंदर में भगवान बाहुबली और 24 तीर्थंकरों की छोटी मूर्तियाँ है। इस मंदिर से सूर्योदय और सूर्यास्त के दृश्य देखते ही बनती है।

  2. राजवाड़ा : यह भवन होलकर राजवंश का शाही निवास है, जिसे होलकर वंश के संस्थापक मल्हार राव होल्कर ने 1747AD में बनवाया था.यह भवन सात मंजिला है। इस महल मे बालीवुड एक्टर अमिताभ बच्चन की आवाज मे धवनि शो होता है जो राजा होलकर और इंदौर का इतिहास बताता है।

  3. लालबाग पैलेस: यह महल लगभग 28 एकड़ में फैला हुआ है।लालबाग पैलेस इंदौर शहर की ऐतिहासिक समृद्ध विरासत से रुबरू करवाता है। और होलकर शासकों की भव्य जीवन शैली का स्वाद देता है। इस महल की वास्तुकला यूरोपीय शैली से बेहद प्रभावित है। इस पैलेस की उल्लेखनीय विशेषता यह है कि भोजन हॉल में भोजन पहुंचाने के लिए उन दिनों में लिफ्ट का उपयोग किया गया जाता था।जो होलकरों की भव्य जीवन शैली का एक जीवंत प्रमाण है।

  4. खजराना गणेश मंदिर– इस मंदिर का निर्माण परोपकारी रानी अहिल्याबाई होल्कर द्वारा किया गया था। मान्यता है कि रानी अहिल्याबाई होलकर ने औरंगज़ेब के प्रकोप से भगवान गणेश की मूर्ति की रक्षा के लिए इस शक्तिशाली मंदिर का निर्माण किया था।

  5. काँच मंदिर – यह मंदिर राजवाड़ा पैलेस के करीब स्थित है। यह मंदिर अपनी अद्वितीय शैली के कारण मशहूर है। यह पूरा मंदिर बेल्जियम के सना हुआ ग्लास और दर्पण से बना हुआ है। फर्श से लेकर छत तक, सीढ़ियों से लेकर दीवारों तक, सब कुछ कांच के टुकड़ों से बनाया गया है।

  6. केंद्रीय संग्रहालय -इस संग्रहालय को इंदौर संग्रहालय के रूप में भी जाना जाता है। इसमें संग्रहण की हुई वस्तुओ की एक समृद्ध श्रृंखला है। इस संग्रहालय की दो गैलरी हैं। एक प्रागैतिहासिक काल से संबंधित है दूसरी घर की कलाकृति से संबंधित। दूसरी गैलरी में नक्काशी की गई है जो हिंदू पौराणिक कथाओं को दर्शाती है।

  7. रालामंडल अभयारण्य: इंदौर शहर से लगभग 12 किलोमीटर की दूरी पर रालामंडल अभयारण्य स्थित है। यह जगह चारों तरफ से जगलों से घिरी हुई है। यहां पर पर्यटक को लुभाने के लिए डियर पार्क बनाया गया है। डियर पार्क में सफारी का मजा भी लिया जा सकता हैं।

इंदौर शहर के झरने | Waterfalls in Indore


इंदौर शहर मे घूमने के अलावा यहाँ पर कई झरने और झीले है।इन्हे भी देखने का अपना ही मजा है।

  • पातालपानी : पातालपानी जलप्रपात इंदौर जिले की महू नामक स्थान में स्थित है। इंदौर से लगभग यह 36 किमी दूर है।इस झरने का पानी लगभग 300 फीट ऊंचाई से नीचे गिरता है। पातालपानी के आसपास का क्षेत्र बहुत ही सुंदर और हराभरा है। यह एक मशहूर पिकनिक और ट्रेकिंग स्पॉट है।
  • तिंछा फॉल : यह झरना इंदौर से लगभग 25 किलोमीटर दूर नेमावर-मुंबई रोड़ पर स्थित है। यह झरना भी बहुत ऊंचाई से गिरता है। इंदौर के स्थानीय लोगों के लिए यह सबसे खास डेस्टिनेशन है।
  • शीतला माता फॉल: यह झरना इंदौर से करीब 40 किलोमीटर दूरी पर स्थित है। यहां दो छोटे छोटे झरने और हैं।
  • बामनिया कुंड: यह कुंड इंदौर शहर से 50 किमी की दूरी पर स्थित है। यहां झरने के आसपास आप हरे भरे जंगलों को भी देख सकते हैं।
  • कजलीगढ़: यह जगह इंदौर शहर से 25 किमी दूर स्थित है।कजलीगढ़ में होलकर समय का शिकारगाह है। यहाँ पर एक ओर किला तो दूसरी ओर शिव मंदिर और पास बहता झरना आनंदमय है।

इंदौर शहर कैसे पहुंचे | How to reach Indore

इंदौर शहर मध्य प्रदेश राज्य का वाणिज्यिक और शैक्षिक केंद्र है। यहाँ भारत के किसी भी कोने से आराम से पहुंचा जा सकता है।
सड़क मार्ग– यह भोपाल के NH46 से जुड़ता है जिस से पर्यटक आसानी से यहाँ आ सकते है।

रेल मार्ग– इंदौर रेलवे-स्टेशन भारत के प्रमुख रेलवे-स्टेशन से जुड़ता है जिस से पर्यटको को यहाँ आने मे आसानी होगी।

वायु मार्ग– इंदौर के हवाई अड्डा का नाम देवी अहिल्याबाई होल्कर है।यह हवाई अड्डा देश के विभिन्न हवाई अड्डे से जुड़ता है।

Other Articles: श्यामजी साँका मंदिर, नरसिंहगढ़ | NARSINGHGARH

1 thought on “Indore me Ghumne ki Jagah | इंदौर मे घूमने के पर्यटन स्थल”

Leave a Comment